गुरुवार, 7 जुलाई 2016

हरिद्वार से बड़कोट की यात्रा

हम हरिद्वार लगभग साढ़े छः बजे पहुंचे जिसके बाद हमने सबसे पहला काम आगे की यात्रा के लिए साधन की  तलाश करना शुरु किया। वंहा सभी टैक्सी और प्राइवेट बस ऑपरेटर ने यूनियन बना रखी है जिससे चार धाम या अन्य जगह जाने का रेट प्रतिदिन बदलता रहता है। खैर एक मिनी बस एक घंटे बाद मिली जिसमें प्रति व्यक्ति 2600 ₹ किराया तय हुआ जिस हिसाब से चार व्यक्तियों का 10400₹ का भुगतान हुआ। यंहा पर हम लोगों से एक गलती हो गयी हमने सीट पकड़ने में विलम्ब कर दिया जिसकी वजह से हमें पीछे वाली सीट मिली बस की पीछे की सीट में धक्के बहुत ज्यादा लगते है जिससे पूरे सफ़र हमारी हालत ख़राब रही। बस हरिद्वार से निकली और देहरादून और मसूरी होते हुए आगे बढ़ी। देहरादून से पहाड़ी इलाका शुरू हो जाता है। मसूरी भी बढ़िया हिल स्टेशन है।
हरिद्वार से यमुनोत्री की दूरी 250 किमी के लगभग है। हम हरिद्वार से बड़कोट पहुंचे जंहा पर रात्रि विश्राम किया। बड़कोट को 2014 में ही नगरपालिका का दर्जा मिला है। बड़कोट को सहस्त्रबाहु की नगरी भी कहा जाता है। यह भी एक सुंदर नगर है।
रास्ते में
मसूरी रोड मे स्थित मन्दिर
मनोरम दृश्य
मसूरी का दृश्य
यंहा नाश्ता किये थे
एक टिप्पणी भेजें